By: Roshan Choudhary | February 06, 2015

मान लेते हैं की 15 लाख रूपये वाली बात चुनावी जुमला ना होता, और   Narendra Modi जी सच में कालाधन वापस ले आते और 15 लाख रूपये सभी के बैंक अकाउंट में होते तो, देश में त्राहिमाम मच जाता,  
बचपन में   Maithili   भाषा में एक कहानी सुना था की  
माता पार्वती ने भगवान् शंकर से कही की दुनिया में सभी लोग आपको पूजते हैं फिर भी आप किसी को अमीर और किसी को गरीब बना देते हो ये तो अच्छी बात नहीं हैं, आप सब को एक जैसा बना दो, भगवान शंकर कहे की ये बात ठीक नहीं होगा, दुनिया चलाने के लिए असमानता जरुरी हैं, लेकिन माता पार्बती नहीं मानी, तो भगवान शंकर बोले ठीक हैं जब आपकी इच्छा हैं तो यही सही, उन्होंने सभी को एक जैसा धनवान बना दिया, कुछ ही दिनों के बाद बरसात का मौसम आया, तो भगवान शंकर की कुटिया जो फूस की बनी थी उससे वर्षा का पानी अंदर टपकने लगा, माता ने फूस के छप्पड़ ठीक करने वाले के पास जाकर बोला की हमारी कुटिया का छप्पड़ ठीक कर दो, तो मजदुर बोलता हैं की मेरे पास समय नहीं हैं आप किसी और से ये काम करवा लो, माता जितने मजदुर के पास गयी सब ने कोई ना कोई बहाना बना लिया, इधर कुटिया में रहना दुर्भर हो गया था, तब माता को अपनी भूल का एहसास हुआ और उन्होंने अपने इष्ट से पुनः प्रार्थना कर पृथ्वी को पहले की भांति करवाई .

Category: चुनाव 

Tags: राजनीती 

Comments:

Be the first to comment ...

Post a Comment